real state vs mutual fund
|

Investment: रियल स्टेट और म्यूच्यूअल फण्ड दोनों में से कौन सा निवेश का अच्छा आप्शन कहाँ मिलेगा तगड़ा रिटर्न

एक निवेशक जब निवेश करने के बारे में सोचता है तो उसके मन में कई प्रकार के विचार आते हैं फिर एक निवेशक एक सूची बनाता है और उस सूची के अंदर वह उन जगहों के नाम लिखता है जहाँ पर उसे निवेश करना है जैसे कि कुछ निवेशक लॉन्ग टर्म के लिए रियल एस्टेट में निवेश करते हैं

कुछ निवेशक म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं लेकिन ज्यादातर निवेशकों में ऐसा देखा गया है कि उनकी मन में एक उलझन रहती है कि रियल एस्टेट और म्यूचुअल फंड दोनों में से बेहतर कौन है और किस में निवेश करने से उन्हें ज्यादा फायदा हो सकता है इस आर्टिकल के अंदर इस समस्या को सुलझाने की पूरी कोशिश की जाएगी

क़ानूनी समस्याए: रियल एस्टेट में बहुत बार कई प्रकार की कानूनी समस्याएं आ जाती है और जब ऐसा होता है तो ज्यादातर ये देखा गया है कि कई बार इन समस्याओं के हल को निकलने में बहुत समय लग जाता है इसके कारण प्रॉपर्टी की वैल्यू भी कम हो सकती है 

साथ ही आपका पैसा लंबे समय के लिए कानूनी समस्याओं के कारण फंस सकता है और यदि हम इसकी तुलना म्यूचुअल फंड से करें तो वहाँ पर आपको कानूनी समस्याएं बहुत कम दिखेंगी क्योंकि म्यूचुअल फंड सेबी के द्वारा रेगुलेट किए जाते हैं इसके कारण यहाँ पर कानूनी समस्याएं होने की संभावनाएँ बहुत कम होती है

real state vs mutual fund

यह भी पढ़े – जानिए लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए बेस्ट स्टॉक…..मिल सकता है तगड़ा रिटर्न 

निगरानी करने की आवश्यकता: जब आप किसी प्रॉपर्टी को खरीदते हैं तो वहाँ पर आपको एक बड़ी समस्या देखनी पड़ती है और वह है निगरानी आपको प्रॉपर्टी की बार बार निगरानी करनी पड़ती है साथ ही यदि आपने प्रॉपर्टी किसी ऐसी जगह पर खरीद ली है जोकि दूर है तो आपको बार बार वहाँ पर जाकर अपनी प्रॉपर्टी की निगरानी करनी पड़ती है 

और यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको कई समस्याएं भी झेलनी पड़ सकती है जिनमें कानूनी दिक्कतें भी हो सकती है इसी की तुलना यदि हम म्यूचुअल फंड से करें तो यहाँ पर ऑनलाइन ट्रैकिंग की सुविधा होती है आप म्यूचुअल फंड में लगाएं हुए पैसे को ट्रैक कर सकते हैं

यह भी पढ़ेजानिए एक स्टॉक के बारे में जिसने दिया 700 प्रतिशत रिटर्न

अधिक पूंजी की आवश्यकता: जब आप रियल एस्टेट में पैसा लगाते हैं या फिर आपको प्रॉपर्टी खरीदनी होती है तो वहाँ पर आपको एक मोटी रकम की आवश्यकता होती है जबकि म्यूचुअल फंड में आप कम राशि के साथ भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं और बाद में उसे बढ़ा भी सकते हैं और म्यूचुअल फंड में एक निश्चित समय के बाद आपकी पूंजी एक मोटी रकम में बदल जाती है

यह भी पढ़े – जानिए इस साल में CNG का कितना बढ़ा भाव

ज्यादा रिटर्न: रियल एस्टेट के निवेशकों द्वारा ऐसा देखा जा रहा है कि पिछले कुछ समय से उन्हें अधिक रिटर्न नहीं मिल पाता है और इसकी तुलना में म्यूचुअल फंड में मॉडरेट रिस्क के साथ अच्छा रिटर्न मिल सकता है यदि रिटर्न की बात करें तो रियल एस्टेट में लगभग सात से 11 फीसदी तक सालाना रिटर्न मिल सकता है जबकि म्यूचुअल फंड में 14-19 प्रतिशत तक रिटर्न मिल सकता है लेकिन यह आपके फंड पर निर्भर करता है और यदि आप लॉन्ग टर्म के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपको और अधिक रिटर्न देखने को मिल सकता है

Disclaimer: यह लेख कुछ आंकड़ों व अनुमानों के आधार पर लिखा गया है क्रिप्टो मार्केट (Cryptocurrency Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Funds),स्टॉक मार्किट (Stock Market) में अपनी रिस्क पर ही इन्वेस्ट करे तथा हम SEBI द्वारा रजिस्टर्ड फाइनेंसियल एडवाइजर नहीं है इसलिए यदि आपको किसी भी प्रकार का लॉस होता है तो इसके लिए हम जिम्मेदार नहीं है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.