IPO के जरिए फंड जुटाने के लिए हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज को सेबी की हरी झंडी

हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज को आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के माध्यम से 100-120 करोड़ रुपये जुटाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी की मंजूरी मिल गई है। पब्लिक इश्यू में कंपनी के 85 लाख इक्विटी शेयरों की बिक्री शामिल है, जैसा कि सेबी के पास दायर ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) में दिखाया गया है। हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज, जिसने सितंबर 2021 में सेबी के साथ प्रारंभिक आईपीओ कागजात दाखिल किए थे, ने 25 जनवरी, 2022 को अपना अवलोकन पत्र प्राप्त किया, सेबी के साथ एक अपडेट सोमवार को दिखाया गया

सेबी की भाषा में, अवलोकन से तात्पर्य आईपीओ लाने के लिए नियामक की मंजूरी से है। बाजार सूत्रों के मुताबिक, आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक पेशकश) से 100-120 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। ड्राफ्ट पेपर्स के अनुसार, प्रारंभिक शेयर-बिक्री से शुद्ध आय का उपयोग इसके पूंजीगत व्यय, कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के अलावा सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए खर्च के लिए किया जाएगा।

हैदराबाद में मुख्यालय और 2007 में निगमित, पिछड़े एकीकरण केंद्रित कंपनी की पूरे भारत में और विशेष रूप से दक्षिणी और पश्चिमी क्षेत्रों में व्यापक वितरण नेटवर्क के साथ अपने स्टील उत्पादों पर एक मजबूत पकड़ है। कंपनी के पास एक विविध उत्पाद पोर्टफोलियो है जिसमें माइल्ड स्टील (एमएस) बिलेट, पाइप और ट्यूब, हॉट रोल्ड (एचआर) वॉयल्स और मचान सिस्टम शामिल हैं और आवास, बुनियादी ढांचे, कृषि, मोटर वाहन, सौर, निर्माण जैसे विविध अंत-उपयोग उद्योगों को पूरा करता है। और इंजीनियरिंग

हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज ने तेलंगाना के संगारेड्डी में एक नया विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने की योजना बनाई है, जिसकी कुल अनुमानित क्षमता 51,943 टन प्रति वर्ष है। ड्राफ्ट पेपर्स के अनुसार, यह वित्त वर्ष 2011 में उत्पादन शुरू करने की योजना बना रहा है। अक्टूबर 2019 तक, कंपनी की स्थापित क्षमता लगभग 2.41 लाख टन प्रति वर्ष है

यह भी पढ़े – जानिए ये 7 बिज़नेस आईडिया जिन्हे कब इन्वेस्टमेंट व नौकरी के साथ पार्ट टाइम कर सकते है

share market

वित्त वर्ष 2011 के लिए, इसकी कुल आय 254.82 करोड़ रुपये थी, जो पिछले वित्त वर्ष में 161.15 करोड़ रुपये थी। पिछले वित्त वर्ष में 7.90 करोड़ रुपये की तुलना में उक्त अवधि में इसका शुद्ध लाभ 15.13 करोड़ रुपये रहा। आईटीआई कैपिटल इस इश्यू का एकमात्र बुक-रनिंग लीड मैनेजर है।

हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज के आईपीओ को चौथे दिन मिला 3.44 गुना सब्सक्रिप्शन

30 मार्च को सब्सक्रिप्शन के लिए शुरू हुआ इश्यू 5 अप्रैल तक खुला रहेगा

हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) सोमवार को बोली लगाने के चौथे दिन 3.44 गुना अभिदान हुआ। एनएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, पब्लिक इश्यू को 2.92 करोड़ शेयरों के लिए बोलियां मिलीं, जबकि ऑफर में 85 लाख शेयर थे, जो 3.44 गुना सब्सक्रिप्शन में तब्दील हो गया।

आईपीओ के खुदरा हिस्से को सबसे अधिक 7.18 गुना अभिदान मिला, इसके बाद गैर-संस्थागत निवेशकों (1.93 गुना) और संस्थागत खरीदारों (83 प्रतिशत) का स्थान रहा। 30 मार्च को सब्सक्रिप्शन के लिए शुरू हुआ यह इश्यू 5 अप्रैल तक खुला रहेगा। हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज 144-153 रुपये के प्राइस बैंड के ऊपरी सिरे पर 130 करोड़ रुपये जुटा रही है। उत्पन्न आय का उपयोग पूंजीगत व्यय आवश्यकताओं, कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं और शेष सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य के लिए किया जाएगा।

हैदराबाद स्थित कंपनी इस्पात उत्पादों का निर्माण करती है और दक्षिण भारत में इसका व्यापक वितरण नेटवर्क है। यह आवास, बुनियादी ढांचे, कृषि, मोटर वाहन, सौर ऊर्जा, बिजली, सीमेंट, खनन और इंजीनियरिंग जैसे विभिन्न क्षेत्रों में ग्राहकों की आवश्यकताओं को पूरा करता है

यह भी पढ़े – जानिए टॉप 5 स्मॉल कैप स्टॉक्स लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट शेयर तगड़ी कमाई

भारी ब्याज पर हरिओम पाइप के आईपीओ को दूसरे दिन 1.9 गुना रिटर्न मिला

हेयरोम पाइप इंडस्ट्रीज का आईपीओ शुक्रवार को करीब दो गुना सब्सक्राइब हुआ था। मंगलवार को यह इश्यू बंद हो गया। इश्यू का रिटेल हिस्सा 4.7 गुना सब्सक्राइब हुआ है। आईपीओ के जरिए कंपनी 130 करोड़ रुपये की नई पूंजी जुटाने पर विचार कर रही है। आईपीओ का प्राइस बैंड 144-153 रुपये प्रति शेयर है।

कंपनी माइल्ड स्टील पाइप, स्कैफोल्डिंग, एचआर स्ट्रिप्स, एमएस बिलेट और स्पंज आयरन की एकीकृत निर्माता है। वित्त वर्ष 2011 में, इसने 254.82 करोड़ रुपये की कुल आय पर 15.13 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। आईपीओ के बाद कंपनी का मार्केट कैप करीब 400 करोड़ रुपये हो जाएगा

यह भी पढ़े – TTML Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030, 2035

Desclaimer


हमारा उद्देश की आपको शेयर बाजार जुड़ी बाते साझा करना है और जब भी आप निवेश करे आप अपनी रिसर्च के मुताबिक ही निवेश करे और लॉन लेकर इन्वेस्ट न करे हम SEBI द्वारा रजिस्टर्ड फाइनेंसियल एडवाइजर नहीं है इसलिए शेयर मार्केट में निवेश अपने रिस्क पर ही करें ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.